An+essay+on+Insanity

मूल शब्दावली

आजकल
Nowadays
सनक
Eccentricity
दुष्प्रभाव
Side effects
समूचे
Throughout
दार्शनिकों
Philosophers

पागलपन पर एक निबंध

इस बारे में एक निबंध जो संक्षेप में यह दिखाता है कि जिसे हम पागलपन समझते हैं वह समय के अनुसार कैसे बदल गया है। लेखिका निडिया कुआन www.nidiacuan.com.mx

मध्यम वर्ग
इस कहानी को Beelinguapp में पढ़ें और सुनें!

पागलपन पर एक निबंध

इस बारे में एक निबंध जो संक्षेप में यह दिखाता है कि जिसे हम पागलपन समझते हैं वह समय के अनुसार कैसे बदल गया है। लेखिका निडिया कुआन www.nidiacuan.com.mx

मध्यम वर्ग
इस कहानी को Beelinguapp में पढ़ें और सुनें!

मनुष्य का दिमाग हमेशा रहस्य बना रहा है। अनेक दार्शनिकों, विचारकों, लेखकों और वैज्ञानिकों ने इसके संचालकों को समझने की कोशिश की है। हमारे खुद के दिमाग को समझना, शायद, मानवता की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है।
मानव के दिमाग का एक पहलू पागलपन है, जिस पर विद्वानों का ध्यान गया है।
तथापि, “पागलपन” की संकल्पना न केवल समूचे इतिहास में भिन्न-भिन्न रही है, बल्कि यह अलग-अलग संस्कृतियों में भी अलग-अलग है। समय की हर अवधि के मूल्यों और समझ ने इस अवधारणा को प्रभावित किया है कि किसे “सामान्य” माना जाए और किसे “असामान्य”।

किसी भी भाषा में पढ़ें और सुनें

Tags:
पागलपन पर एक निबंध अंग्रेजी में पागलपन पर एक निबंध स्पेनिश में पागलपन पर एक निबंध जर्मन में पागलपन पर एक निबंध स्वीडिश में पागलपन पर एक निबंध इतालवी में पागलपन पर एक निबंध जापानी में पागलपन पर एक निबंध कोरियाई में पागलपन पर एक निबंध पुर्तगाली में पागलपन पर एक निबंध फ्रेंच में पागलपन पर एक निबंध तुर्किश में